Monday, 14 May 2018

// गधों को जब-तब भी नापा गया है.. शेरों से ऊँचा ही तो पाया गया है.. ..//


इस गधे में कुछ तो ख़ास है..
ये चर्चे जंगल में खासमखास हैं..

गधे तो मानने मनाने भी लगे हैं..
ये गधा नहीं शेर का अवतार है..

कुछ गधे तो इतराने भी लगे हैं.. 
गधों का इतिहास भी तो गवाह है..

गधों को जब-तब भी नापा गया है..
शेरों से ऊँचा ही तो पाया गया है.. .. .. नहीं क्या ??..

(ब्रह्म प्रकाश दुआ.. १४/०५/१८)

'मेरे दिमाग की बातें - दिल से':- https://www.facebook.com/bpdua2016/?ref=hl

No comments:

Post a Comment