Tuesday, 29 May 2018

// ओ मैडम !!.. जब तक जनाज़े उठ रहे हैं - चर्चा तो होगी ही और जवाब भी देने होंगे..//


हमारे देश की एक वास्तविक विदेशमंत्री भी हैं जो कथित रूप से सुषमा स्वराज जी के नाम से जानी जाती हैं.. और जो कई दिनों बाद गोदी मीडिया के पटल पर अकस्मात् अवतरित हुईं.. और जब हुईं तो कुछ बोल भी गईं - और एहसास दिला गईं कि विदेश मामलों में वे भी कुछ बोलने का दखल जैसा कुछ-कुछ रखती हैं..

और भले ही वो बात पुरानी घिसीपिटी ही बोलीं पर चूँकि बहुत दिनों बाद स्वयं बोलीं तो बात से कुछ ऐसा भी लगा जैसे किसी ने ये बताने का प्रयास किया हो कि ताज़ा स्थितियां अभी भी पहले जैसी ही विकट बनी हुई हैं..

और वो बोलीं कि.. जब सीमा पर जनाज़े उठ रहे हों तो चर्चा कैसे की जा सकती है..

और इस पुरानी बात में पुराना दम कूट-कूट कर भरा है..
पर इस पुरानी बात पर मेरा एक नया नजरिया भी है..

और मैं कहना चाहूंगा कि जब सीमा पर जनाज़े उठते ही जा रहे हैं तो फिर इस बात पर चर्चा तक क्यूँ नहीं हो रही ??.. क्यों इस देश के पट्टेधारी खौलते खून वाले युवा अब मादरे वतन पर शहीद होने वाले जवानो की अत्यधिक संख्या को लेकर उग्र नहीं हुए और चर्चा केवल हिन्दू-मुसलमान पद्मावती जिन्ना राम नेहरू गांधी पटेल मोदी राहुल कर्नाटक कैराना पर ही करते रह गए ????..

इसलिए आज देश को कहना चाहूंगा कि आइए हम सुषमा मैडम को याद दिला दें कि हम '१ के १०' वाली बात भूले नहीं हैं.. और क्योंकि सीमा पर जनाज़े उठ रहे हैं - और दुश्मन के मुहं तोड़े नहीं जा रहे हैं - और उचित जवाब भी नहीं दिया जा रहा है - तो फिर इन सब विषयों पर चर्चा क्यों नहीं हो ??..

हम क्यों ना पूछ लें कि सर्जिकल स्ट्राइक के परिणाम निरर्थक साबित क्यूँ हुए ??.. और सर्जिकल स्ट्राइक पर तब इतना हल्ला क्यूँ और अब दुश्मन पर नया हल्ला क्यों नहीं ??.. क्या सर्जिकल स्ट्राइक कोई काठ की हांडी जैसी हुई जो दुबारा चढ़ाई ही नहीं जा सकती ??..

और चर्चा से पूरी सरकार भाग क्यों रही है ??.. कोई जवाबदारी से जवाब क्यों नहीं देता ??.. और जब वो देश की जनता से रूबरू हो रहीं थी तो क्यों उन पर और क्यों उनके द्वारा भी तंज़ कसे जा रहे थे - और 'पीएमओ' का चर्चा में बार-बार उल्लेख हो रहा था ??..

कुल मिलाकर बात इतनी सी है कि जनाज़े जब तक उठेंगे तो जनता द्वारा चर्चा तो होकर रहेगी.. और यदि चर्चा नहीं करोगे तो आप भी उठा पटक दिए जाओगे !!..

पर याद रहे कि चर्चा इस देश की जनता से ही करना है - दुश्मनों को तो मुहंतोड़ जवाब ही देने हैं.. और कहीं भक्तों माफिक उल्टा-सुल्टा अनर्थ मत समझ लेना.. थोड़ा दिल दिमाग का इस्तेमाल भी कर लेना.. समझे ??.. जय हिन्द !!

ब्रह्म प्रकाश दुआ
'मेरे दिमाग की बातें - दिल से':- https://www.facebook.com/bpdua2016/?ref=hl

1 comment:

  1. उपचुनाव में बीजेपी की हार पर क्या-क्या बोले शत्रुघ्न सिन्हा? EXCLUSIVE ... https://youtu.be/KAdeWr0sxZM via @YouTube

    ReplyDelete