Saturday, 19 May 2018

// कर्नाटक में हार चुके पप्पू ने ५६ इंची पहलवान को पटखनी दे मारी - वाह !! ..//


कर्नाटक के नाटक के प्रथम भाग का जो कुछ भी हश्र हुआ या पटाक्षेप हो गया.. उसके कारण मोदी जी दुखी या मासूम तो होंगे..

पर मुझे नहीं लगता कि शर्मिंदा भी होंगे..

अब भक्त तो कहेंगे ही कि ४० से १०४ पर पहुंचे और सबसे बड़े दल के रूप में उभरे तो फिर किस बात की शर्मिंदगी ??..

तो मेरा जवाब है कि जिस विधा में मोदी जी अपने आपको पारंगत समझते थे और पारंगत होने का दावा दम्भ भी भरते थे उसी विधा में एक पप्पू से हार गए !! .. तो अब शर्मिंदा नहीं होंगे तो फिर कब होंगे.. केजरीवाल से हारने पर ??..

और शर्मिंदगी तो इस बात पर भी होनी चाहिए कि एक प्रधानमंत्री होते हुए देश के प्रति आपको सौंपी गई जवाबदारियों की परवाह किए बगैर घटिया स्तर पर उतर कर जनता के पैसों का दुरपयोग कर जो २१ रैलियां की थी क्या वो सब करना जायज़ था ??..

इसलिए कहता हूँ कि जब-जब बदनीयती से और बदहवास हो ऊटपटांग करोगे और करवाओगे तो शर्मिंदा तो होना ही पड़ेगा और आपके विरोधियों को खुश होने का सुअवसर मिलेगा..

और मोदी जी विदित हो मैं खुश हुआ - किसीके जीतने के कारण नहीं बल्कि कर्नाटक में हार चुके पप्पू ने आपको पटखनी दे मारी इसलिए..  समझे ५६ इंची पहलवान जी !!.. हा !! हा !! हा !!..

ब्रह्म प्रकाश दुआ
'मेरे दिमाग की बातें - दिल से':- https://www.facebook.com/bpdua2016/?ref=hl

No comments:

Post a Comment