Friday, 24 February 2017

// अमेरिका में हुई एक निर्दोष भारतीय की हत्या पर बहुत कुछ सोचने की आवश्यकता ..//


अमेरिका में नस्लभेदी एवं 'अमेरिका छोड़ो' के नारे लगाते हुए एक कट्टरवादी अमेरिकन ने शायद अपने देश की भलाई की चेष्टा में और अपनी आने वाली पीढ़ियों के हितों की रक्षा करने हेतु एक भारतीय इंजीनियर की हत्या कर दी .. ..

बहुत अफ़सोस !! .. बेहद दुर्भाग्यपूर्ण !! .. बेहद अन्यायपूर्ण !! .. ..

पर कल्पना करें कि .. .. भारत में नस्लभेदी एवं 'भारत छोडो' के नारे लगाते हुए एक कट्टरवादी भारतीय शायद अपने देश की भलाई की चेष्टा में और अपनी आने वाली पीढ़ियों के हितों की रक्षा करने हेतु एक पाकिस्तानी या बांग्लादेशी या सूडानी या ईरानी या अफ्रीकन मूल निवासी की हत्या कर दे .. .. तो भी क्या ठीक उतना ही .. .. .. .. "बहुत अफ़सोस .. बेहद दुर्भाग्यपूर्ण .. बेहद अन्यायपूर्ण" ?? .. ..

सोचियेगा .... और सोचियेगा तब ही शायद आप केवल हिंसा से नफरत करियेगा .... बाँटने वालों - लड़ाने वालों - हिंसा करने कराने वालों - घृणित राजनीति करने वालों से नफरत करियेगा .... और शायद तब ये नफरत किसी धर्म जाति या देश प्रदेश की सीमाओं से प्रभावित नहीं होगी .... और शायद तब आप महात्मा गांधी के "अहिंसा परमो धर्म" के मर्म को भी समझियेगा - और थोड़े से तर्क के बाद सुभाष चन्द्र बोस और भगत सिंह की वीरता और उपयोगिता को भी समझियेगा .. ..

और शायद तब ही ठीक-ठीक समझियेगा कि अमेरिका के ट्रम्प और भारत के जोकर में क्या समानताएं हैं .. .. और ये भी कि इधर हमारे बीच में भी तो कई कट्टरवादी सिरफिरे सिर उठाए हुए हैं जो दिनरात सांप्रदायिक बातों से ही फुरसत नहीं पा पाते हैं .. ..

अन्यथा गर्राते रहियेगा कि आप सबसे बड़े देशभक्त - और देशभक्त से भी बड़े वाले - केवल भक्त !!

मेरे 'fb page' का लिंक .. https://www.facebook.com/bpdua2016/?ref=hl

No comments:

Post a Comment