Friday, 29 June 2018

// "मोदी को खतरे" पर विवेचना !!.. पर "मोदी से खतरे" का क्या ??.. ..//


मैं तो शुरू से मानता और कहता आया हूँ कि मोदी मंत्रिमंडल में आपराधिक प्रवृत्ति के टुच्चे भी हैं ही हैं..

खैर अब जाकर मेरी बात समझ पड़ी और मानी गई.. और मोदी को मंत्रियों से खतरे पर उचित सतर्कता बरतने के आदेश दिए गए हैं..

और क्योंकि मेरी बात मानी गई है तो एक और पते की बात आज मुफ्त में ही बता देता हूँ..
मोदी को जितना खतरा उनके मंत्रियों से है उससे कई गुना ज्यादा खतरा तो उनकी ही पार्टी के अध्यक्ष से भी है और फिर कई ऐसे काबिल माने जाने वाले पदाधिकारियों से है जो पार्टी में हैं ही इसलिए क्योंकि उनकी आपराधिक क्षमता सदैव से जाँची परखी जा चुकी है.. और जो सांप्रदायिक ध्रुवीकरण या दंगे फसाद करवाने या  एन-केन-प्रकारेण चुनाव जितवाने में महारथ हासिल रखते हैं.. 

खैर ये तो बात हुई "मोदी को खतरे" की.. पर "मोदी से खतरे" का क्या ????..

और मेरी राय में तो जब भी कोई मोदी से मिलने जाए तो बिंदास जाए.. पर कान में रुई डालकर.. क्योंकि मोदी किसी को भी "बोल फेंक" से ही प्रताड़ित करने की क्षमता रखते हैं .. कुछ कर गुजरने की नहीं..

कुछ कर गुजरने की क्षमता तो केजरीवाल में ही लगती है जिसका प्रमाण भी मुख्य सचिव मारपीट प्रकरण से उद्घृत  करवाया जा चुका है.. और आज तो केजरीवाल के विरुद्ध दिल्ली पुलिस द्वारा चार्ज-शीट भी प्रस्तुत करने की खबरें आ रही हैं.. 

इसलिए लगे हाथ आज फिर भक्तों को भी मुफ्त में ही समझाइश..
मोदी से डरने की जरूरत नहीं - बस केजरीवाल से बच कर रहना.. समझे !!

और इसी तारतम्य में एक राज़ की बात बताऊँ ??.. अब यदि कोई भी मोदी से मिलने जाएगा तो उसकी पूरी "फ्रिस्किंग" होगी - यानि टटोल-टटोल कर तलाशी.. और वो इसलिए नहीं कि कोई शारीरिक हमला ना कर दे.. बल्कि शायद इसलिए ही कि वो कहीं कोई गुप्त माइक या मोबाइल का माइक चालू कर मोदी के "बोल फेंक" रिकॉर्ड ना कर ले..  समझे पूरी बात ??.. बहुत ही गूढ़ बात !!..

और यदि आप मेरी गूढ़ बात समझ गए होंगे तो आपको यकीनन समझ आ जाएगा कि.. "मोदी को किससे खतरे" - "मोदी को कैसे खतरे"..  और "मोदी से कैसे खतरे" !!.. धन्यवाद !!..

ब्रह्म प्रकाश दुआ
'मेरे दिमाग की बातें - दिल से':- https://www.facebook.com/bpdua2016/?ref=hl

No comments:

Post a Comment