Monday, 26 February 2018

// तो क्या अब अंबानी बच जाएंगे - अमरिंदर नप जाएंगे ??.. ..//


अब तो 4-5 दिन हो चले.. छोटे मोदी और मेहुल भाई के अब तक के सबसे बड़े बैंक घोटाले में बड़े मोदी के अलावा एक और नाम चर्चित हो गया था..

और वो नाम था विपुल अंबानी का..
और मैं इस बात का ज़िक्र इसलिए कर रहा हूँ कि ये विपुल अंबानी मुकेश अंबानी का चचेरा भाई बताया गया है.. लेकिन बावजूद इसके अब तक गोदी मीडिया ने मुकेश अंबानी के नाम पर होहल्ला नहीं मचाया..

ऐसे ही आज एक और १०९ करोड़ के घोटाले का समाचार आ रहा है - घोटाला यूपी की चीनी मिल में हुआ है - जिसमें पंजाब के मुख्यमंत्री के दामाद को भी आरोपी बताया जा रहा है.. पर होहल्ला जैसा कुछ नहीं है..  

पर कल्पना करें कि यदि विपुल अंबानी केजरीवाल का चचेरा भाई या साढू  होता तो ??.. और यदि केजरीवाल के चाचा मामा काका का दामाद किसी घोटाले में आरोपित भर हो जाता तो ??..
तो मेरे ख्याल से अब तक केजरीवाल के नाम पर गोदी मीडिया और भक्तों ने चिल्ला-चिल्ला अपने आप को देशभक्त और केजरीवाल को देशद्रोही करार देने की पुरजोर कोशिश कर ली होती..

तो क्या मान लिया जाए कि अब मुकेश अंबानी बच जाएंगे ??.. या कैप्टन अमरिंदर सिंह नप जाएंगे ??..

और मेरा जवाब है कि अब जब योग संयोग से - या किसी की गफलत से - या ईशकृपा से - या किसी अधिकारी के अपनी खुद की जान बचाने के चक्कर में ईमानदारी से अड़ियल हो जाने और ईशकृपा से अब तक जिन्दा बचे रह जाने से - ये भांडे फूटने शुरू हुए हैं.. तो अब या तो धरा चुका पूरा गिरोह सजा पाएगा - या फिर हर सजा भुगतने की अभ्यस्त हो चुकी अभिशप्त गरीब जनता तो है ही - जो अब भी यही मान लेगी कि मोदी राज है तो ही तो एक के बाद एक घोटालों का भांडा फूट रहा है.. और घोटाला दामाद ने किया है - ससुरे ने थोड़े ही किया है !!..

और बड़े मोदी के हाल उस खाऊ जैसे बने रहेंगे जो अधिक खाने के बाद अपच के रहते असहाय हो हवा खराब करने पर अपनी नाक बंद कर हाथ से हवा हिला आसपास हर व्यक्ति को हवा खराब करने का दोषी ठहराने के प्रयास में घूरता रहेगा..

ब्रह्म प्रकाश दुआ
'मेरे दिमाग की बातें - दिल से':- https://www.facebook.com/bpdua2016/?ref=hl

No comments:

Post a Comment