Saturday, 10 February 2018

// क्या ये "देश की सुरक्षा" के नाम पर विडंबना की अति तो नहीं ??.. ..//


सुंजवां मिलिट्री कैंप पर कायराना आतंकी हमला हुआ है और हाल फिलहाल मुठभेड़ जारी है..

और इसी बीच टीवी चैनल्स पर बताया जा रहा है कि .. ..
आतंकी ४ थे - पीछे के रास्ते से घुसे थे - २ मार गिराए - २ घेर लिए गए हैं - रुक रुक कर गोलीबारी हो रही है - हेलीकाप्टर से मदद ली जा रही है - पैरा कमांडोज़ पहुँच गए हैं - हमले की आशंका या सूचना पहले से थी - आतंकी पाकिस्तानी हैं - हमले में पाकिस्तान का हाथ होने की बात कही जा रही है - जम्मू-कश्मीर विधानसभा में हंगामा - हमले के पीछे रोहिंग्या शरणार्थियों की भी बात कही गई है.. आदि - अनादि !!..

मेरी प्रतिक्रिया.. .. 

अभी जबकि ऑपरेशन जारी है.. क्या उपरोक्त बातें देश और सेना की सुरक्षा के लिए घातक नहीं ??..

और क्या राफेल जहाज की कीमत बताना देश की सुरक्षा के लिए ठीक नहीं ??..

क्या ये "देश की सुरक्षा" के नाम पर विडंबना की अति तो नहीं ??..

कहीं "देश की सुरक्षा" अक्षमों के जिम्मे तो नहीं ??..

ब्रह्म प्रकाश दुआ
'मेरे दिमाग की बातें - दिल से':- https://www.facebook.com/bpdua2016/?ref=hl

No comments:

Post a Comment