Monday, 12 February 2018

// अब तो बस मोदी तले कोई खट्टर होगा और खटारा राज होगा.. ..//


३० निर्दोष लोग मारे गए थे !!..

जी हाँ !!.. जाट आंदोलन के समय हुई वीभत्स हिंसा में ३० निर्दोष लोग मारे गए थे.. और तब खट्टर सरकार द्वारा आश्वासन दिया गया था कि - हर अपराधी के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाएगी - कानून अपना काम करेगा - किसी को बख्शा नहीं जाएगा..

आश्वासन घिसा-पिटा था - पर सरकारी था और दो इंजिनों वाली सरकारों का था - जिसमें एक सरकार ५६ इंची छाती वाले की भी थी.. इसलिए आश्वासन विश्वासयोग्य नहीं था..

और सांच को आंच क्या.. आज सभी मर्यादाओं और जवाबदारियों जिम्मेदारियों को धता बताते हुए पूरी-पूरी बेशर्मी और बदनीयती का प्रदर्शन करते हुए और न्याय को जूते की नोक पर रखते हुए सभी आरोपित अपराधियों को थोकबंद बख्श दिया गया है.. जाटों पर सभी केस वापस ले लिए गए हैं..

और मैं सोच रहा हूँ कि क्या किसी भी एक गैरतमंद जाट को इस निर्णय से खुश होना चाहिए?? .. और क्या हर न्यायप्रिय भारतीय का खून नहीं खौलना चाहिए ??..

और क्या खट्टर की खटारा सरकार को चलने दिया जाना चाहिए.. और क्या मोदी सरकार को चलता नहीं कर देना चाहिए ??..

और क्या मणिशंकर अय्यर ने अपनी जुबान नहीं खोलनी चाहिए.. और क्या रेणुका चौधरी ने अट्हास नहीं लगाना चाहिए ??..

और क्या हमारा देश अब "पकौड़ा रिपब्लिक" नहीं हो गया ??..

और क्या भक्तों कि भक्ति तब तक जारी रहेगी जब तक उन्हें दादागिरी गुंडागर्दी लूटपाट हत्याएं बलात्कार करने की छूट दी जाती रहेंगी ??..

प्रश्न बहुत हैं.. पर बेशर्मों की चमड़ी भी बहुत मोटी है.. इसलिए प्रश्नों के अलावा भी बहुत कुछ दरकार है .. अन्यथा प्रश्न पूछना भी मुहाल होगा.. इस देश में स्वाभिमान से जीना भी मुहाल होगा.. होगा तो बस मोदी तले कोई खट्टर होगा और खटारा राज होगा.. ..

ब्रह्म प्रकाश दुआ
'मेरे दिमाग की बातें - दिल से':- https://www.facebook.com/bpdua2016/?ref=hl

No comments:

Post a Comment