Tuesday, 20 February 2018

// ऑडिटर और सीए तो पकौड़े तल रहे थे पर तू और तेरा मोदी क्या कर रहा था ??..//


पीएनबी घोटाले में जेटली फूटा.. अपना पहला बयान दिया.. बयान क्या कोरी बकवास..

और कहा.. दोषियों को हर हाल में पकड़ना होगा..
और एक प्रश्न भी ठोंक दिया है कि ऑडिटर और सीए क्या कर रहे थे ??..

मेरी प्रतिक्रिया..

पकड़ना होगा तो ठीक - पर ये पकड़ने का काम किसके जिम्मे ??..
क्या ये पकड़ने का काम केजरीवाल के जिम्मे या राहुल के जिम्मे या लालू के जिम्मे ??.. या जो बेचारे पकौड़े तल रहे हैं उनके जिम्मे ??..
या शिव सेना या करणी सेना या बजरंग दल या गौरक्षक दलों के जिम्मे या संघ की ३ दिनी सेना के जिम्मे ??.. या फिर भारतीय सेना या रक्षामंत्री के जिम्मे ??..

पर यदि ये पकड़ने का काम मोदी के जिम्मे मान लें तो फिर ये जेटली ने ऐसा क्यों नहीं कहा कि - "मोदी को दोषियों को हर हाल में पकड़ना होगा" ??..

और यदि मोदी को दोषियों को हर हाल में पकड़ना होगा तो ये बात जेटली कहने वाला कौन जबकि जेटली मोदी के सामने तो स्वयं ही तुच्छ सा है..

मतलब साफ़ हुआ कि जेटली का अब ये प्रयास है कि देश का हर बेवकूफ अब अपने दिमाग से ये अंदाज़ा लगाता रहे कि यार ये दोषियों को पकड़ने का काम किसका और अब ये काम कब कौन कैसे करेगा ??..
और मेरा दावा है कि देश के जितने भी भक्त हैं - वो अब इसी काम और विमर्श में लग जाएंगे.. बेचारे दिमाग के मारे !!..

अब आ जाएं जेटली के प्रश्न पर कि.. ऑडिटर और सीए क्या कर रहे थे ?? ..

और मेरा जवाब प्रतिप्रश्न के साथ.. ऑडिटर और सीए तो पकौड़े तल रहे थे - पर तू ये बता कि तू क्या कर रहा था और तेरा मोदी क्या कर रहा था ??..

ब्रह्म प्रकाश दुआ
'मेरे दिमाग की बातें - दिल से':- https://www.facebook.com/bpdua2016/?ref=hl

No comments:

Post a Comment