Tuesday, 3 July 2018

// "लोकपाल का क्या हुआ"?? ज़िंदा है मर गया या "विकास" के साथ गायब हो गया ??..//


अफवाहों के तीव्र गति से फ़ैल जाने और त्वरित असर कर जाने के ज़माने में - और बातों के तुरत-फुरत वायरल हो जाने के ज़माने में - हमारे सुप्रीम कोर्ट ने कल पिछले चार साल में चौथी बार मोदी सरकार से मात्र पूछा भर है कि - "लोकपाल का क्या हुआ" ??..

और "लोकपाल का क्या हुआ" ये तो जग जाहिर है.. वो ही हुआ जो मंज़ूरे मोदी था.. यानि ना कुछ होना था ना हुआ !!..

और ऐसा क्यूँ हुआ ??.. क्योंकि ये वही सुप्रीम कोर्ट है जिसके चार न्यायाधीश जनता के सामने आकर जनता को बता गए थे कि सुप्रीम कोर्ट में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है.. और शायद सही बता गए थे.. और इसलिए हम देख रहे हैं कि सुप्रीम कोर्ट में ये सब क्या चल रहा है - कब से चल रहा है - और "लोकपाल का क्या हुआ" !!..

खैर जो होना था हुआ.. और जो नहीं होना था वो भी नहीं हुआ.. पर इसके अलावा भी कुछ और गज़ब हुआ.. पता है क्या हुआ ??..

पूरे २४ घंटे से भी ज्यादा हो गए उपरोक्त समाचार आए - पर किसी प्रशांत योगेंद्र किरण बिन्नी शाज़िआ विश्वास वीकेसिंह कपिल या किसी और अन्ना प्रशंसक या अन्ना भक्त या अन्ना सहयोगी या फिर स्वयं अन्ना हज़ारे द्वारा ही अरविन्द केजरीवाल की शान में अभी तक तो एक भी अपशब्द नहीं कहा गया.. और यहां तक कि भाजपा और कांग्रेस ने  भी केजरीवाल को अभी तक बिलकुल भी नहीं कोसा..

जबकि मेरा ऐसा मानना है कि इनमें किसी ना किसी टुच्चे को कम से कम केजरीवाल से तो सदाबहार प्रश्न पूछना ही था कि - क्यों भाई केजरीवाल जी - तुम्हारे "लोकपाल का क्या हुआ" ??..

खैर उन्होंने नहीं पूछा तो अब मैं ही किसी से कुछ पूछ लेता हूँ.. मैं भी मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा वाले    सुप्रीम कोर्ट से और अपने प्रधानसेवक से पूछ लेता हूँ कि - "लोकपाल का क्या हुआ" ??.. वो अभी ज़िंदा है या स्वर्गवासी तो नहीं हो गया ??.. या फिर "विकास" के साथ कहीं गायब तो नहीं हो गया ??.. और कहीं केजरीवाल ने इनका अपहरण तो नहीं कर लिया ??.. और यदि कर ही लिया तो क्या तुम्हें इस बात पर शर्म नहीं आती.. एक केजरीवाल तक का तोड़ नहीं ढूंढ सके ना !!.. ..

ब्रह्म प्रकाश दुआ
'मेरे दिमाग की बातें - दिल से':- https://www.facebook.com/bpdua2016/?ref=hl

No comments:

Post a Comment