Tuesday, 4 July 2017

// इसराइल यात्रा स्वागत योग्य .. पर ऊपर वाले से प्रार्थना भी जारी रखें !! ....//


भारत के प्रधानमंत्री इजराइल पहुंच गए हैं जहा उनका भव्य स्वागत किया गया है जो भारत के लिए महत्त्व और संतोष का कारण है .. ..

और इजराइल से या किसी भी अन्य देश से यदि हमारे देश के संबंध अच्छे या बेहतर ही होते हैं तो ये तो स्वागत योग्य ही है .. लेकिन कुछ लोग फिलिस्तीन के विषयक कुछ नाखुश भी हैं - क्योंकि इजराइल और फिलिस्तीन के संबंध ३६ के आंकड़े जैस दुश्मनी के हैं - और फिलिस्तीन भारत का पुराना मित्र .. ..

इस विषयक मेरा केवल इतना ही कहना है कि क्या चीन और पाकिस्तान के संबंध या पकिस्तान और अमेरिका के संबंध भी अच्छे थे या होंगे तो क्या हम चीन या अमेरिका से संबंध विच्छेद तो नहीं कर लेंगे ना .. ..

इसलिए फिलिस्तीन से हमारे दोस्ताना संबंध कायम रहें और इजराइल से भी हम संबंध प्रगाढ़ कर अपने स्वहित और विश्वहित में कुछ अच्छा कर सकें इसके प्रयास तो होने ही चाहिए .. ..

लेकिन इसका ये मतलब भी नहीं की अंतरष्ट्रीय कूटनीतिक राजनीति में कोई चूक हो जाए तो चलेगा .. जैसे कि भारत के प्रधानमंत्री एक बार घूमते फिरते पाकिस्तान में अपना विमान उतार सबसे हैल्लो-हाय  कर लौटे थे .. आशा है ऐसे मसलों में आगे ऐसी कोई चूक तो नहीं होने दी जाएगी .. पर आशा ही की जा सकती है - क्योंकि भारत के प्रधानमंत्री मोदी जो हैं .. और मोदी जी की माया अपरम्पार है - और वो किसी समझदार की सलाह को अहमियत देते हैं ऐसा अभी तक ३ साल में आभास हुआ नहीं है .. ..

इसलिए ऊपर वाले से प्रार्थना भी जारी रखें .. धन्यवाद .. जय हिन्द !!

मेरे 'fb page' का लिंक .. https://www.facebook.com/bpdua2016/?ref=hl

No comments:

Post a Comment